प्रसव का ये अजीबो-गरीब तरीका, जानकर चौंक जायेंगे देखें वीडियो

मातृत्व सुख महिलाओं के लिए सबसे बड़ा सुख है, लेकिन प्रसव पीड़ा से बड़ी पीड़ा भी उनके लिए कोई दूसरी नहीं होती.ये है छत्तीसगढ़ के बस्तर का अबूझमाड़ इलाका।

ये भी पढ़ें :-मुख्यमंत्री योगी की मंत्रियों को चेतावनी, लिया अगर बेहिसाब गिफ्ट तो भुगतना होगा अंजाम

तरक्की और सुविधाएं तो छोड़िए यहां इंसानी जिंदगी की कल्पना मुश्किल है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि जिंदगी की जद्दोजहद से जूझते यहां के आदिवासियों के डिलेवरी प्रोसेस को अमेरिका भी फॉलो कर रहा है।

ये भी पढ़ें :-इस भूतिया वीरान टापू पर जो गया वो वापस नहीं लौटा, जानिए क्‍या है वजह

अबूझमाड़ में डिलेवरी के लिए महिलाओं को लेटाया नहीं जाता, बल्कि एक खास तरह की कुर्सी पर बैठाकर उनकी डिलेवरी कराई जाती है।

देखें वीडियो :-

ये भी पढ़ें :इस अश्‍लील वीडियो ने मचाया धमाल देखने वाले हो गये दंग

जब किसी घर में कोई महिला गर्भवती होती है तो घर से बाहर एक विशेष झोपड़ी बनाई जाती है जिसे स्थानीय भाषा में ‘कुरमा’ कहा जाता है,

ये भी पढ़ें :-शराब पिला शिक्षिका ने स्टूडेंट को बनाया हवस का निवाला, कर दी सारी हदें पार

ये भी पढ़ें :-इस क्षेत्र की महिलायें करती हैं माहवारी के समय ये अजीब काम, जानकर हो जायेंगे हैरान

इस झोपड़ी में रस्सी के सहारे एक पाटे को झूले की तरह लगाया जाता है. जब महिला को प्रसव पीड़ा शुरू होती है तो महिला झूले की रस्सी को हाथों से पकड़ पाटे पर बैठती है.

ये भी पढ़ें :-प्रेग्नेंसी के दौरान महिलायें कर रहीं हैं ये खूनी उपाय, जानकर चौंक जायेंगे आप

बैठने का तरीका ऐसा होता है बच्चे को बाहर निकालने के लिए सही एंगल बनता है और मां की कोख से बच्चा आसानी से बाहर आ जाता है। अमेरिका की एक टीम भी यहां आकर आदिवासियों की इस टेक्निक का परीक्षण कर चुकी है।

ये भी पढ़ें :करें इस अचूक मन्त्र का जाप, और वो हो जायेंगे आपके वश में  

ये भी पढ़ें :अपनाएँ ज्योतिष के ये ब्रम्हास्त्र उपाय, जिंदगी के हर युद्ध में होगी विजय

weebsly