प्राचीन भारत में काम कला के अनेकों खेल राजा महाराजा खेलते थे। कुछ राजा तो ऐसे थे जिनको वासना के आगे कुछ और नहीं दिखता था। आज हम आनको वासना के खेल के बारे में बतायेंगे जो आज से पहले आपने नहीं सुना होगा।

यह भी पढें:-देखें कैसे महिलाएं इस्‍तेमाल करती हैं फिमेल कंडोम, तेजी से वायरल हुआ विडियो  

भारत में हुआ  इसलिए आप यह जानकर बिल्‍कुल भी अचम्‍भा नहीं होना चाहिएकि पुराने जमाने के लिए लोग सेक्‍स को लेकर कितने जागरूक थे और यह उनके मनोरंजन की क्रियाओं में से एक था। भारत में ऐसी कई सेक्‍स प्रथाएं और इससे सम्‍बंधित खेल थे जिनके बारे में आप सुनेंगे तो विश्‍वास नहीं करेंगे। आइए जानते है ऐसे ही प्राचीन सेक्‍स से जुड़े खेल या क्रीड़ाओं के बारे में जिनका प्राचीन समय में अनुसरण किया जाता था।

यह भी पढें:-आपने साथी को करना है बिस्‍तर पर खुश तो अपनाएं ये खास ट्रिक

प्राचीन समय में भारत के कुछ स्‍थानों पर घाट कनचूकी नामक खेल खेला जाता था। इन खेल के अजीबो गरीब नियमों के बारे में जानकर आप आश्‍चर्यचकित हो सकते हैं। आइए जानते है कि इस खेल के पीछे क्‍या काहानी छिपी है। खेल के नियम इस खेल में, पुरुषों और महिलाओं के एक समूह को जनता के मनोरंजन के लिए यौन क्रियाओं में शामिल किया जाता था।

यह भी पढें:-हाथ में लेते ही सनी लियोन की निकली चीख, बकने लगीं गाली, विडियो हुआ वायरल  

ये खेल तब तक चलता रहता था, जब तक समूह का प्रत्येक व्यक्ति के महिलाओं के समूह के प्रत्‍येक महिला के साथ यौन संबंध न बना ले। इस खेल को जारी करने के नियम खेल के नियम सरल थे, जिसमें पुरुषों और महिलाओं की समान संख्या होती थी, जो रात में चुपके से इकट्ठे होते थे। इस खेल को खेलने के लिए किसी भी जाति, धर्म और संबंधों के बारे में नहीं सोचा जाता था। समूह में सभी लोग एक कागज के चारों ओर बैठकर एक ‘चक्र’ या पहिया का चित्र बनाया करते थे।

Leave a Reply

weebsly